बार्टी आस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में पहुंची, सेमीफाइनल में मेडिसन कीज को हराया


आस्ट्रेलिया का कोई खिलाड़ी 1978 में क्रिस ओ नील के बाद आस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब नहीं जीत पाया है। शीर्ष रैंकिंग वाली बार्टी ने सेमीफाइनल तक के अपने सफर के दौरान सिर्फ 17 गेम गंवाए और उन्होंने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए 2017 अमेरिकी ओपन उप विजेता कीज के खिलाफ दबदबा बनाया।

मेलबर्न, (एपी) ऐश बार्टी ने गैरवरीय मेडिसन कीज को हराकर आस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाकर मेजबान देश के लंबे इंतजार को खत्म किया और अब उनकी नजरें एक और सूखे को खत्म करने पर टिकी हैं।
बार्टी ने सेमीफाइनल में एकतरफा मुकाबले में कीज को 6-1, 6-3 से हराया।
बार्टी 1980 में वेंडी टर्नबुल के बाद अपने घरेलू ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने वाली आस्ट्रेलिया की पहली महिला खिलाड़ी हैं।

आस्ट्रेलिया का कोई खिलाड़ी 1978 में क्रिस ओ नील के बाद आस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब नहीं जीत पाया है।
शीर्ष रैंकिंग वाली बार्टी ने सेमीफाइनल तक के अपने सफर के दौरान सिर्फ 17 गेम गंवाए और उन्होंने एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करते हुए 2017 अमेरिकी ओपन उप विजेता कीज के खिलाफ दबदबा बनाया।
बार्टी ने विंबलडन में घसियाले कोर्ट और फ्रेंच ओपन में क्ले कोर्ट पर खिताब जीते हैं और वह हार्ड कोर्ट पर खिताब जीतने से एक जीत दूर हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

image Source

Enable Notifications    OK No thanks