Diabetes control: किचन में मौजूद इन सस्ती चीजों से इंसुलिन को बढ़ाएं, ब्लड शुगर होगा कंट्रोल


हाइलाइट्स

एक रिसर्च के मुताबिक मेथी के दाने को पानी में भिंगो कर पीने से टाइप 2 डाइबिटीज कंट्रोल होता है
सौंफ ब्लड शुगर को कम रखती है और इंसूलिन की मात्रा को बढ़ाती है

blood sugar and spices: डायबिटीज हमारे लिए बहुत बड़ी समस्या बनती जा रही. यह खून में ब्लड शुगर के बढ़ने के कारण होती है. इसके कारण हार्ट, ब्लड वेसल्स, आंखें, किडनी और नर्व से संबंधित कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक दुनिया भर में 42.2 करोड़ लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं. दरअसल, जब खून में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ने लगती है तो डायबिटीज की बीमारी होती है. जब हम भोजन करते हैं तो यह पेट में जाता है. इस दौरान शरीर भोजन से आवश्यक पोषक तत्वों को प्राप्त करता है. भोजन से कार्बोहाइड्रैट भी प्राप्त होता है. कार्बोहाइड्रैट खून में जाकर ग्लूकोज में बदल जाता है. शरीर को ऊर्जा के लिए जितने ग्लूकोज की आवश्यकता होती है, वह कैलोरी में बदल जाती है. बाकी बचे ग्लूकोच को इंसुलिन हार्मोन अवशोषित कर लेता है. लेकिन इंसुलिन कम बनने से ग्लूकोज का अवशोषण नहीं हो पाता है. इस प्रकार अतिरिक्त ग्लूकोज खून में जमा होने लगता है और डायबिटीज के रूप में सामने आता है. खून में बढ़े हुए ग्लूकोज के स्तर को किचन में मौजूद मसालों से कम किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें-इन गलतियों की वजह से अंडरआर्म्स हो जाते हैं डार्क, इन आसान तरीका से चमकाएं

इन चीजों से कम करें ब्लड शुगर

सौंफ-सौंफ का इस्तेमाल सिर्फ माउथ फ्रेशनर के तौर पर ही नहीं किया जाता बल्कि आयुर्वेद में इसके कई औषधीय गुणों की चर्चा की गई है. सौंफ में एंटी- इंफ्लेमेटरी, एंटी माइक्रोबियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं. इसके अलावा इसमें कैल्शियम, जिंक, मैगनींज, आयरन, मैग्नीशियम, कॉपर, पोटेशियम और सेलेनियम भी मौजूद होता है. फूड डॉट एनडीटीवी के मुताबिक सौंफ में मधुमेह से लड़ने की क्षमता होती है. यह ब्लड शुगर को कम रखती है और इंसूलिन की मात्रा को बढ़ाती है.

मेथी दाना-मेथी के दाने भी किचेन में आसानी से मिल जाएंगे. इसमें डाइट्री फाइबर मौजूद होता है जो इंसुलिन को बढ़ाने में मददगार है. हेल्थलाइन की खबर के मुताबिक 10 ग्राम मेथी के दाने को पानी में भिंगो देने के बाद इसका सेवन करने से टाइप 2 डाइबिटीज कंट्रोल होता है. रिसर्च के मुताबिक मेथी के दाने इंसुलिन रेजिस्टेंस को घटाते हैं.

हल्दी-हम सब हल्दी के फायदे के बारे में भी जानते ही हैं. हल्दी जिस तरह चेहरे पर चमक लाती है, उसी तरह यह शरीर में इंसुलिन की मात्रा को भी बढ़ाती है. हल्दी में करक्यूमिन नामक कंपाउंड पाया जाता है, जिसमें एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लामेट्री गुण मौजूद होते हैं. ये खून में ब्लड शुगर के स्तर को कंट्रोल करते हैं.

करी पत्ता-दक्षिण भारत में करी के पत्ते का लगभग हर तरह की सब्जियों में इस्तेमाल किया जाता है. करी के पत्तों में भी कई तरह के कंपाउंड पाए जाते हैं जो ब्लड शुगर को संतुलित रखते हैं. इसका नियमित सेवन इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार लाता है. करी पत्ता का सेवन काढ़ा बनाकर करने से ज्यादा फायदा होता है.

गिलोय-बाबा रामदेव ने गिलोय को अधिकांश घरों में पहुंचा दिया है. गिलोय के सेवन से भी ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है. यह इम्यूनिटी को बूस्ट करता है. इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स शरीर में फ्री रेडिकल्स नहीं बनने देते.

Tags: Blood Sugar, Health, Health tips, Lifestyle

image Source

Enable Notifications    OK No thanks