घुटने का दर्द होगा गायब, डाइट में शामिल करें ये एंटी-इंफ्लेमेटरी फूड


हाइलाइट्स

फैटी फिश खाने से जोड़ों के दर्द में मिल सकता है आराम.
ब्रोकली है एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर.
एवोकाडो के सेवन से कम हो सकता है घुटने का दर्द.

Anti-Inflammatory Foods For Knee Pain – घुटने का दर्द अब एक आम समस्‍या बन चुकी है. ज्‍वाइंट्स पेन का मुख्‍य कारण गठिया है, जिसकी वजह से जोड़ों में सूजन आ जाती है. घुटनों में दर्द के कारण चलना, उठना-बैठना सब मुश्किल हो जाता है. ये समस्‍या महिला और पुरुष दोनों में पाई जाती है. ज्‍वाइंट्स पेन की यह समस्‍या सर्दी के मौसम में बहुत ज्‍यादा परेशान करती है. सामान्‍य तौर पर लोग दर्द से राहत पाने के लिए पेन किलर का सहारा लेते हैं, इससे तुरंत आराम तो मिल जाता है लेकिन समस्‍या जड़ से समाप्‍त नहीं होती. घुटने का दर्द खत्‍म करने में एंटी-इंफ्लेमेटरी फूड अहम भूमिका निभा सकते हैं. डेली डाइट में एंटी-इंफ्लेमेटरी फूड्स शामिल करने से ओवरऑल हेल्‍थ को भी बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है.

खूब खाएं बेरीज
हेल्‍थलाइन के मुताबिक बेरीज एक स्‍मॉल फ्रूट हैं जो फाइबर, विटामिंस और मिनरल्‍स से भरपूर होते हैं. बेरीज में एंथोसायनिंस नाम का एंटीऑक्‍सीडेंट होता है, जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी इफेक्‍ट होता है. बेरीज खाने से जोड़ों में दर्द और सूजन भी कम होती है.

फैटी फिश से होता है फायदा
फैटी फिश प्रोटीन और ओमेगा-3 फैटी एसिड का बहुत अच्‍छा स्रोत है. ये इंफ्लेमेशन को कम करने में मदद करती है. बॉडी इन फैटी एसिड को रिजोल्‍विंस और प्रोटेक्‍टिंस नाम के कंपाउंट सेल्‍स में बदलता है, जिनमें एंटी-इंफ्लेमेटरी इफेक्‍ट होता है.

ब्रोकली है पोषक तत्‍वों से भरपूर
ब्रोकली पोषक तत्‍वों से भरपूर होती है. ब्रोकली में सल्‍फोराफेन नाक का एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो कायटोकाइंस और न्‍यूक्लियर फैक्‍टर कप्‍पा बी को कम कर इंफ्लेमेशन को घटाता है.

इसे भी पढ़ेंः मौत के जोखिम कम कर सकती है दो कप चाय, रिसर्च में हुआ खुलासा

एवोकाडो है फायदेमंद
एवोकाडो में पोटेशियम, मैग्‍नेशियम, फाइबर और हार्ट के लिए हेल्‍दी मोनोसैचुरेटेड फैट होता है. एवोकाडो में एक ऐसा कंपाउंड होता है जो नई बनने वाली स्किन सेल्‍स में इंफ्लेमेशन को कम कर सकता है.

यह भी पढ़ें-रात में नहीं आती है नींद तो यह है वजह, जानें कैसे मिलेगा इससे छुटकारा

मशरूम भी देता है राहत
दुनियाभर में मशरूम की हजारों प्रजातियां पाई जाती हैं लेकिन इनमें से कुछ ही खाने योग्‍य हैं. मशरूम में कैलोरी की मात्रा कम होती है जबकि सेलेनिअम, कॉपर और विटामिन बी भरपूर मात्रा में होता है. मशरूम में फेनोल्‍स और अन्‍य एंटीऑक्‍सीडेंट भी होते हैं जो एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रोटेक्‍शन प्रदान करते हैं.

Tags: Health, Joint pain, Lifestyle

image Source

Enable Notifications    OK No thanks